कर्नाटक चुनाव रिजल्ट 2018: भाजपा ने ऐसे खोला 'दक्षिण का द्वार', ये 5 रणनीति बनी वजह 

कर्नाटक चुनाव रिजल्ट 2018: भाजपा ने ऐसे खोला 'दक्षिण का द्वार', ये 5 रणनीति बनी वजह 

Karnataka-Election-Results: बीजेपी अपनी रणनीति की बदौलत दक्षिण का किला फतह करने में कामयाब रही

नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) रुझानों में ‘कर्नाटक का किला’ फतह कर चुकी है. पार्टी की इस जीत के अहम मायने हैं. खासकर तब जब अगले साल लोकसभा चुनाव होने हैं. इस जीत के साथ ही भाजपा के लिए ‘दक्षिण का द्वार’ भी खुल गया है और पार्टी अब कर्नाटक के बाद धीरे-धीरे दक्षिण के अन्य राज्यों में भी अपनी पैठ बढ़ाने की कोशिश करेगी. कर्नाटक के बाद तमिलनाडु अगला लक्ष्य होगा. तमिलनाडु के बारे में भाजपा खुद कहती रही है कि वहां स्थितियां पार्टी के अनुकूल हैं. इसी साल पूर्वोत्तर में करिश्मे के बाद भाजपा ने अब दक्षिण में करिश्मा किया है. यह करिश्मा यूं ही नहीं हुआ है. इसके पीछे तमाम वजहें हैं. चुनाव प्रचार में पार्टी ने पूरी ताकत झोंक दी. पीएम मोदी खुद ‘रण’ में उतरे. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह से लेकर तमाम बड़े नेता धूल फांकते नजर आए. आइये आपको बताते हैं कि भाजपा कैसे बनी ‘कर्नाटकपति’. 

n_h

Leave a Comment