मीट कारोबारी की हत्या करने वाले आरोपियों का जयंत सिन्हा ने माला पहनाकर किया स्वागत, हुआ विवाद

खास बातेंपिछले साल आरोपियों ने की थी कारोबारी की हत्याहाईकोर्ट से जमानत पर रिहा हुए हैं आरोपीजयंत सिन्हा ने घर बुलाकर किया सम्मानितरांची: आरोपियों के बरी होकर जेल से बाहर आने पर उनके स्वागत की बात तो आपने सुनी होगी लेकिन हत्या की सजा काट रहे आरोपियों के जमानत पर छुटने पर उनका स्वागत कोई केंद्रीय मंत्री करे यह आपने शायद ही सुना होगा. ऐसा ही एक मामला झारखंड के हजारीबाग में सामने आया है. जहां केंद्रीय मंत्री जयंत सिन्हा ने  उम्र कैद की सजा काट रहे आरोपियों के जमानत पर छूटने पर उन्हें घर बुलाकर सम्मानित किया. खास बात यह है कि इन आरोपियों पर पिछले साल एक मीट कारोबारी की हत्या करने आरोप है और वह अब उम्र कैद की सजा भी काट रहे हैं. जयंत सिन्हा ने इन्हें अपने घर बुलाकर फूलों की माला पहनाई और उनके साथ फोटो भी खींचवाई. 

यह भी पढ़ें: हवाई यात्रियों की संख्या 10 करोड़ तक पहुंची : जयंत सिन्हा 


गौरतलब है कि मीट कारोबारी की हत्या और उसके बाद से इस पूरे मामले को राजनीतिक रूप देने की कोशिश की जा रही है. यही वजह है कि बीजेपी के नेताओं ने इन आरोपियों का शुरू से ही समर्थन किया है. कुछ महीने पहले बीजेपी के पूर्व विधायक शंकर चौधरी इन आरोपियों को छोड़ने के लिए 15 दिनों तक धरने पर बैठे थे. 2 जुलाई को जब नित्यानंद ज़मानत पर जेल से बाहर आया तो उसे लेने शंकर चौधरी खुद गए, नित्यानंद रामगढ़ बीजेपी का ज़िलाध्यक्ष है. इस पूरे मामले के सामने आने के बाद विपक्षी पार्टियों ने जयंत सिन्हा को निशाने पर लिया. ​इस मामले में यूथ कांग्रेस ने भी जंयत सिन्हा पर हमला किया. यूथ कांग्रेस ने एक ट्वीट कर कहा कि देश के 10 राज्यों में शक के आधार पर अभी तक 27 लोगों की हत्या की जा चुकी है और जयंत सिन्हा ऐसा करने वाले आरोपियो के स्वागत में लगे हैं.
 
Unbelievably shameful!टिप्पणियां

Leave a Comment