नोटबंदी के बाद नोटों की ढुलाई में खर्च हुए 29.41 करोड़ रुपये, वायुसेना ने भेजा बिल : RTI

खास बातेंनोटबंदी के बाद नोटों की ढुलाई में खर्च हुए 29.41 करोड़ रुपयेवायुसेना ने भेजा बिलआरटीआई से यह बात आई सामनेनई दिल्ली: नोटबंदी के बाद जारी किये गए 2000 और 500 रुपये के नये नोटों की ढुलाई में भारतीय वायु सेना के अत्याधुनिक परिवहन विमान- सी -17 और सी -130 जे सुपर हरक्यूलिस के इस्तेमाल पर 29.41 करोड़ रुपये से अधिक की रकम खर्च की गई. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के पुराने नोटों को प्रचलन से बाहर करने की घोषणा की थी. प्रधानमंत्री की इस घोषणा से 86 फीसदी नोट व्यवस्था से बाहर हो गए थे. इसकी भरपाई नोटबंदी के बाद जारी 2000 और 500 रुपये के नए नोटों से अविलंब करने की आवश्यकता थी. भारतीय वायु सेना द्वारा एक आरटीआई आवेदन का दिये गए जवाब के अनुसार सरकार के आठ नवंबर 2016 को 1000 और 500 रुपये के पुराने नोटों को अचानक से प्रचलन से बाहर करने के बाद उसके परिवहन विमानों सी -17 और सी -130 जे सुपर हरक्यूलिस ने सेक्युरिटी प्रिंटिंग प्रेस और टकसालों से देश के विभिन्न हिस्सों में नोटों की ढुलाई करने के लिये 91 चक्कर लगाए. 

यह भी पढ़ें: कांग्रेस ने साधा केंद्र पर निशाना, पूछा – अगर स्विस बैंक में नहीं तो आखिर कहां है काला धन?


टिप्पणियां

n_h

Leave a Comment