एनआरसी पर खूनखराबा और गृहयुद्ध जैसी टिप्पणियां किसी मुख्यमंत्री के लिए उचित नहीं : सोनोवाल

नई दिल्ली: असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने रविवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के उस बयान की आलोचना की है जिसमें उन्होंने एनआरसी  पर खूनखराबा और गृहयुद्ध की बात कही थी. सोनोवाल ने कहा कि किसी मुख्यमंत्री की तरफ से इस तरह का बयान आना दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने ममता बनर्जी के इस बयान को भड़ाऊ बताया. सोनोवाल ने आरोप लगाया कि बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने एनआरसी पर दुष्प्रचार कर और गलत सूचनाएं दे कर संसद की कार्यवाही बाधित की है और संसद का बहुमूल्य वक्त बर्बाद किया है. उन्होंने कहा कि निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से तैयार किए गए एनआरसी के मसौदे के प्रकाशन के बाद असम में कानून और व्यवस्था से जुड़ी एक भी घटना नहीं हुई. मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री के बयान भड़काऊ और विभाजनकारी हैं और उनके अपने राज्य के वोट बैंक के लिए है. यह मुख्यमंत्री के लिए उचित नहीं है.

यह भी पढ़ें: NRC के मुद्दे पर ममता बनर्जी के रुख से नाराज असम के टीएमसी प्रमुख का इस्तीफा

Advertisement
उल्लेखनीय है कि ममता बनर्जी ने आरोप लगाया था कि असम में एनआरसी की कवायद लोगों को विभाजित करने की राजनीतिक मंशा के तहत की गई है. इससे देश में गृह युद्ध छिड़ सकता है और खूनखराबा भी हो सकता है. उन्होंने कहा कि देश में तथा विदेश में एनआरसी पर अफवाहें फैलाई गईं लेकिन वह असम की जनता के प्रति आभारी हैं खासतौर पर बराक घाटी व बंगालियों के प्रति जो बाहरी ताकतों की बुरी योजना के शिकार नहीं बने जिन्होंने संकीर्ण राजनीतिक लाभ के लिए लोगों को उकसाने का प्रयास किया. उन्होंने एनआरसी के मसौदे के प्रकाशन का श्रेय लेने के लिए कांग्रेस पर भी भड़ास निकाली.

यह भी पढ़ें: ईवीएम नहीं; मतपत्र से कराया जाए 2019 का लोकसभा चुनाव, विपक्ष करेगा मांग

टिप्पणियां

n_h

Leave a Comment